Follow us

गांवों में किसानों की समस्याओं से रूबरू हो रहे जीएम

जसपुर/काशीपुर। चीनी की बेहतर रिकवरी कराने को मिल के जीएम ने कमर कस ली है।...
 
गांवों में किसानों की समस्याओं से रूबरू हो रहे जीएम

जसपुर/काशीपुर। चीनी की बेहतर रिकवरी कराने को मिल के जीएम ने कमर कस ली है। उनका गांवों में जाकर गन्ना किसानों से न केवल अगेती फसल उगाने पर फोकस है बल्कि उनकी खाद, यंत्र आदि की समस्या सुनकर उसका मौके पर ही अफसरों को निस्तारित करने के निर्देश दे रहे है। जीएम की इस कार्यप्रणाली से किसान भी प्रसन्न है। उनका कहना है कि ऐसा पहली बार है कि जब कोई जीएम वातानाकूलित कक्ष से निकलकर किसानों की समस्याआें से रूबरू हो रहा है।

वैसे तो चीनी मिल नादेही हर साल किसान, मिल कर्मी एवं अफसरों की बैठक में गन्ने की प्रजाती एवं अधिक पैदावार करने के टिप्स दिए जाते है। इसमे शरद कालीन गन्ना बुवाई के लिए ट्रेंच ओपनर विधि से कृषकों का चयन कर पांच पांच फिट की दूरी पर अगेती गन्ने की प्रजाति की बुवाई कराने एवं बुवाई से पूर्व मृदा परीक्षण कराने को कहा जाता है। लेकिन इस बार नये प्रधान प्रबंधक अनिल कुमार चन्याल ने किसानों की समस्याओं से रूबरू होने को गांवों के हिसाब से रोस्टर तैयार कराया है। वह गांव गांव जाकर न केवल किसानों से गन्ना रकवा आदि के बारे में पूछ रहे है। बल्कि अगेती प्रजाति का गन्ना बौने के लिए प्रेरित कर रहे है। वह दस दिन में गांव रायपुर, किशनपुर, अंगदपुरग् गूलरगौजी में किसानों से मुलाकात कर उनसे समय पर खाद,यंत्र एवं बीज उपलब्ध कराने के बारे मे जानकारी ले रहे है। यहॉ सीसीओ खीमानंद,तेजपाल सिंह, प्रमोद द्विवेदी, अजय, गोपाल, परमिंदर सिंह आदि मौजूद रहे।

From around the web

Trending Videos