Follow us

CM योगी ने शहर को दी 93.89 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात, विकास की हर योजना पर सिर्फ गरीब का हक

गोरखपुर (DVNA)। नगर निगम ने नगर के विकास के लिए जारी धनराशि का उचित नियोजन...
 
CM योगी ने शहर को दी 93.89 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात, विकास की हर योजना पर सिर्फ गरीब का हक

गोरखपुर (DVNA)। नगर निगम ने नगर के विकास के लिए जारी धनराशि का उचित नियोजन किया। इसी का परिणाम है कि आज उसके लोकार्पण और शिलान्यास का यह भव्य कार्यक्रम हो रहा है। गोरखपुर में 237 परियोजनाएं हैं, जिसमें सड़क, पेयजल आदि की तमाम ऐसी परियोजनाएं शामिल हैं, जिनका गरीबों के साथ ही यहां के प्रत्येक नागरिक को लाभ मिलेगा। इनमें 62 करोड़ की परियोजनाओं का आज शिलान्यास हो रहा है। यह बातें आज मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कही। वे यहां गोरखपुर में नगर निगम की करीब 93.89 करोड़ की परियोजनाओं का लोकापर्ण व शिलान्यास कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।
सीएम योगी ने कहा कि अच्छा प्रतिनिधि चुनेंगे तो अच्छा विकास होगा। सरकारें पहले भी थी। पैसे भी थी। लेकिन लूट खसोट मची हुई थी। आज सिस्टम से काम हो रहा है, इसी का नतीजा है कि सरकार की प्रत्येक योज2नाओं का आम जनमानस को सीधा लाभ मिल रहा है। विपक्ष पर निशाना साधते हुए योगी ने कहा कि आज जो काम हो रहा है, वह पहले भी हो सकता था। अपने पूर्वजों के नाम पर योजनाओं का नाम रखने की होड़ मची हुई थी, लेकिन गरीब को मकान मिले, इसे लेकर कुछ किया गया। विकास की हर योजना पर सिर्फ गरीब का हक है, उसे मिलना चाहिए। गोरखपुर महानगर में 25 हजार गरीबों को प्रधानमंत्री आवास मिला। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, हर घर में शौचालय।
योगी ने कहा कि इंसेफ्लाइटिस जैसी बीमारी की जड़ गंदगी थी। लेकिन सरकार ने स्वच्छ पेय जल, हर घर शौचालय जैसी तमाम योजनाओं की शुरूआत की, जिसका परिणाम है कि आज पूर्वांचल में कहर बरपाने वाला इंसेफ्लाइटिस समाप्त हो गई। इसी तरह उत्तर प्रदेश ने कोरोना जैसी गंभीर महामारी से भी जंग जीती। आज कोरोना भी उत्तर प्रदेश में समाप्ति की ओर दिखाई दे रहा है। सीएम ने कहा कि सरकार का काम बेहतर प्रबंधन करना होता है, जो सरकार कर रही है। गोरखपुर नगर निगम को एक नई पहचान मिल रही है। नगर निगम को नया भवन मिल गया। महापौर सीताराम जायसवाल शौभाग्यशाली हैं, जवाहर लाल कसौधन दुर्भाग्यशाली हैं। मेयर नहीं बनें। आने वाली पीढ़ी याद रखेगी। जब नगर निगम के नए भवन पर भविष्य में चर्चा होगी, तो याद किया जाएगा, उस समय महापौर कौन था, पार्षद कौन थे। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि किसी भी योजना को बनाते समय जनता की प्राथमिकता को जरूर ध्यान में रखें।
सीएम ने पार्षदों की जमकर सराहना की। कहा कि कोरोना काल में पार्षदों ने अच्छा काम किया था। सरकार ने कोरोना की दूसरी लहर में निगरानी समिति बनाई थी, पार्षदों ने अच्छी सहभागिता निभाई। योगी ने कहा कि विकास की सबसे छोटी ईकाई वाले पार्षद आज बड़ी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। उन्होंने प्रदेश में आतंकी घटनाओं के खुलासे का जिक्र करते हुए कहा कि कई देश विरोधी गतिविधि दिल्ली के बाटला हाउस से संचालित हो रही थी। मूकबधिर बच्चों को निशाना बनाया जा रहा था। पाकिस्तान के आतंकी से जुड़कर कुछ लोग आतंकी घटनाओं को अंजाम देना चाहते थे। लेकिन सुरक्षा एजेंसियों की चौकसी से उसे पहले ही नस्तेनाबुद कर दिया गया।
सीएम योगी ने प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा कि हम भी अपने आसपास सहग होकर ऐसे लोगों पर नजर रख सकते हैं। ह्यूमन इंटिलिजेंस के जरिए ही ऐसी गतिविधियों पर निगरानी की गई। हम सब की सजगहता आज बेहद जरूरी है। हर व्यक्ति के नागरिक होने का भी कुछ दायित्व होता है कि देश विरोधी गतिविधियों पर नजर रखें, साथ ही ऐसे कामों में शामिल और इसे समर्थन देने वाले लोगों का सामाजिक बहिष्कार करना चाहिए। ऐसे लोगों के मंसूबे पूरी तरह ध्वस्त होंगे। आतंक से लेकर पेशेवर अपराधियों से निपटने का काम यूपी में तेजी से हो रहा है।
370 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण
इसके साथ ही सीएम योगी ने मंगलवार की शाम शहर को 93.89 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात दी। गोरखपुर क्लब में आयोजितकार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने 370 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। इनमें 150 परियोजनाओं का शिलान्यास और 220 परियोजनाओं का लोकार्पण हुआ। मुख्यमंत्री ने नगर निगम परिसर में प्राइवेट, पब्लिक पार्टनरशिप (पीपीपी) माडल से संचालित होने वाले म्यूजिकल फाउंटेन और फूड पार्क का भी लोकार्पण किया। सीएम शाम चार बजे मुख्यमंत्री गोरखपुर क्लब पहुंचे। स्वागत महापौर सीताराम जायसवाल ने किया। सभी परियोजनाएं 14वें व 15वें वित्त आयोग, अवस्थापना विकास निधि, अमृत योजना, सीवरेज एवं जल निकासी योजना और स्वच्छ भारत मिशन से है।
सड़क का लोकार्पण
मुख्यमंत्री ने वार्ड नंबर पांच में एक करोड़ 12 लाख 77 हजार रुपये से बनी डामर सड़क का भी लोकार्पण किया। चार करोड़ 11 लाख 67 हजार रुपये से लालडिग्गी पार्क में हुए जीर्णोद्धार कार्य का लोकार्पण कर मुख्यमंत्री ने पार्क को नागरिकों को सौंपा। यहां ओपेन जिम के साथ ही आटोमेटिक घूमने वाला झूला भी लगाया गया है।
मिलेगा शुद्ध पानी
8.81 करोड़ रुपये की लागत से 13 गहरे नलकूप और आठ मिनी नलकूप का भी मुख्यमंत्री ने शिलान्यास किया। इन नलकूप से हजारों नागरिकों को शुद्ध पानी मिलेगा।
यहां लगेंगे गहरे नलकूप
भैरोपुर ओवरहेड टैंक परिसर में, बशारतपुर निकट एल्यूमीनियम फैक्ट्री रोड सुडिय़ा कुआं, राजेंद्र नगर पश्चिमी, राजेंद्र नगर पूर्वी, लच्छीपुर शिव मंदिर के पीछे मलिन बस्ती, पूर्व महापौर डा. सत्या पांडेय के घर के पास, ट्रांसपोर्टनगर स्थित गालन टोला मोहल्ला, धर्मशाला पुलिस लाइन बाउंड्री के अंदर, रुस्तमपुर, अलीनगर, सिविल लाइन द्वितीय पड़हा में रियाज हास्पिटल के बगल में, गोरखनाथ मंदिर परिसर में संस्कृत पीठ के पास और सिविल लाइन चौराहा के पास कार्य कराया जाएगा।
यहां लगेंगे मिनी नलकूप
जटेपुर उत्तरी काली मंदिर के पास, अंधियारीबाग रामलीला मैदान मलिन बस्ती, नरसिंहपुर, पार्षद जितेंद्र सैनी के आवास के पीछे, कृष्णा नगर, माधोपुर, रामप्रीत चौराहा काली मंदिर के पास और चक्सा हुसैन में।
शहर को पांच जोन में बांटने की दी जानकारी
नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने मुख्यमंत्री को नगर निगम को पांच जोन में बांटने की प्रक्रिया पूरी करने की जानकारी दी। बताया कि अभी नगर निगम चार जोन में बंटा है।

From around the web

Trending Videos