Follow us

सिसवा के माहौल को कौन खराब करना चाहता है, नगर पालिका परिषद या ठेकेदार

सिसवा बाजार-महाराजगंज( डीवीएनए)। सिसवा के माहौल को कौन बिगाड़ना चाहता है, नगर पालिका परिषद या...
 
सिसवा के माहौल को कौन खराब करना चाहता है, नगर पालिका परिषद या ठेकेदार

सिसवा बाजार-महाराजगंज( डीवीएनए)। सिसवा के माहौल को कौन बिगाड़ना चाहता है, नगर पालिका परिषद या वो ठेकेदार जिसे नाली और सड़क बनाने का ठेका दिया गया है, क्योंकि मंगलवार की रोज सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ने का जिस तरफ प्रयास किया गया दोनों समुदाय के लोगों की सूझबूझ और मौके पर कोठीभार पुलिस, सीओ व एसडीएम के पहुंचने के बाद कार्यवाही के आश्वासन पर मामला शांत हुआ, इस मामले में दर्जनों हस्ताक्षर युक्त एक प्रार्थना पत्र भी लोगों ने कोठीभार व सिसवा पुलिस चौकी प्रभारी को कार्रवाई हेतु दिया है।
बताया जाता है कि सिसवा बाजार नगर पालिका परिषद बनने के बाद 16 गांव सम्मिलित हुए जिसमें बीजापार के कर्बला टोला में नगर पालिका परिषद द्वारा दुर्गा मेला मैदान बाउंड्री वाल के बगल में पिछले 6 माह पूर्व निर्मित मनरेगा योजना से अंदर ग्राउंड नाली व इंटरलॉकिंग के जगह पर नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए नगर पालिका द्वारा सीमेंटेड सड़क व सीमेंटेड नाली निर्माण का टेंडर कर दिया गया, जहां ठेकेदार द्वारा सीमेंट नालियों का निर्माण मानक की धज्जियां उड़ाते हुए की जा रही थी और इंटरलॉकिंग उखाड़ कर ईट को भी गायब कर दिया गया।
मामला यहां तक तो सब ठीक-ठाक चल रहा था लेकिन सोमवार की रात जेसीबी मशीन द्वारा दुर्गा मेला मैदान के बाउंड्री वाल के बगल के लगे सीमेंट वाली पिलर को उखाड़ कर लगभग 5 फीट दूर गाड़ दिया गया, जब मंगलवार की सुबह इसकी जानकारी लोगों को हुई तो दुर्गा मेला मैदान के पास लोगों की भीड़ जुटी शुरू हो गई, पता चला कि उस बाउंड्री वाल को तोड़कर पहले से सड़क को और चौड़ा करने के उद्देश्य से पिलर को हटाया गया था, ऐसे में एक संप्रदाय में इस बात को लेकर रोष पैदा हुआ कि जहां सांप्रदायिक सौहार्द का माहौल है वहां साम्प्रदायिक माहौल को बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा है।
उपस्थित लोगों की सूचना पर अधिशासी अधिकारी रामदुलार यादव पहुँचे और जेसीबी से पिलर हटाने व नाली, सड़क निर्माण व इट गायब होने की जानकारी से इनकार करते हुए टेंडर निरस्त करने की बात कही।
वही इसकी जानकारी मिलते ही कोठीभार व सिसवा पुलिस के साथ ही सीओ निचलौल डीके उपाध्याय मौके पर पहुंचे और उन्होंने आश्वासन दिया कि कोई भी दीवाल नहीं टूटेगी, तब जा कर यह मामला शांत हुआ, तभी एसडीएम निचलौल भी स्थल का निरीक्षण करने पहुँचे।
वहीं इस मामले में दर्जनों लोगों के हस्ताक्षर युक्त एक शिकायत पत्र कोठीभार व सिसवा पुलिस को दिया गया, लोगों ने दिए शिकायती पत्र में साफ लिखा है कि सिसवा नगर पालिका ठेकेदार मेसर्स आलोक पति त्रिपाठी द्वारा विगत 10 वर्ष पहले उप जिलाधिकारी निचलौल के देखरेख एवं तहसीलदार महोदय की उपस्थिति में दुर्गा मेला मैदान पर बाउंड्री वाल हुआ था, तत्पश्चात निवर्तमान ग्राम प्रधान द्वारा बाउंड्री वाल के उत्तर दिशा में सीमेंट पिलर गाडा गया था, उपरोक्त पिलर को ठेकेदार द्वारा उखाड़ कर उत्तर दिशा में रख दिया गया, जिससे ग्राम सभा में धार्मिक भावना को ठेस लगा, ग्राम वासियों में बहुत आक्रोश है ऐसे लोगों पर कार्रवाई किया जाए।
अब सवाल यह उठता है कि यहां का माहौल को खराब करना चाहता था नगर पालिका परिषद या ठेकेदार ऐसे में जो भी दोषी हो उसके विरुद्ध कठोर से कठोर कार्रवाई होनी।

From around the web

Trending Videos