Follow us

वैक्सीन कोरोना महामारी में एक सुरक्षा कवच का काम करेगी: योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां के0डी0सिंह ‘बाबू’ स्टेडियम में निःशुल्क...
 
वैक्सीन कोरोना महामारी में एक सुरक्षा कवच का काम करेगी: योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां के0डी0सिंह ‘बाबू’ स्टेडियम में निःशुल्क कोविड टीकाकरण महाअभियान का शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री ने यहां 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के युवाओं, 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों तथा 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के अभिभावकों के लिए स्थापित ‘अभिभावक स्पेशल बूथ’ का निरीक्षण किया। उन्होंने टीकाकरण केन्द्र पर वैक्सीनेशन के लिए आए लोगों से बातचीत की तथा टीकाकरण केन्द्र की व्यवस्थाओं को मौके पर परखा। ज्ञातव्य है कि महाअभियान के अन्तर्गत आज से प्रदेश के सभी 75 जनपदों में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का कोविड वैक्सीनेशन प्रारम्भ हो गया है। प्रत्येक जनपद में 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के अभिभावकों के टीकाकरण के लिए अभिभावक स्पेशल बूथ स्थापित किये गये हैं। 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का भी टीकाकरण किया जा रहा है।
इस अवसर पर अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन और नेतृत्व में देश के प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा कवर देने के लिए वैक्सीनेशन कार्यक्रम विगत 16 जनवरी से युद्ध स्तर पर चल रहा है। अब तक पूरे देश में 21 करोड़ से अधिक लोगों ने वैक्सीन डोज ली है। यह कार्यक्रम तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है। भारत सरकार प्रत्येक राज्य को उसकी आवश्यकता के अनुरूप वैक्सीन उपलब्ध करवाने का कार्य कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब तक 01 करोड़ 83 लाख से अधिक वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं। जून माह में 90 लाख से 01 करोड़ लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। आज पहली जून से 18 से 44 वर्ष की उम्र के सभी युवाओं को वैक्सीन उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश के सभी 75 जनपदों में एक विशेष अभियान चल रहा है। इसके लिए पूरे प्रदेश मेें 2,100 से अधिक बूथ स्थापित किये गये हंै। 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए 3,000 से अधिक बूथ पूरे प्रदेश में संचालित हो रहे हैं। सभी 75 जनपदों में न्यायिक अधिकारियों और मीडिया के लिए स्पेशल बूथ बनाये गये हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के अभिभावकों के लिए भी ‘अभिभावक स्पेशल बूथ’ बनाये गये हैं। ऐसे 200 से अधिक बूथ प्रदेश के विभिन्न जनपदों में स्थापित किये गये हैं, ताकि थर्ड वेव की आशंका से पूर्व हम लोग प्रदेश के 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के अभिभावकों को कोरोना से सुरक्षा कवच के रूप में वैक्सीन उपलब्ध करवा सकें। यह संख्या आने वाले समय में बढ़ेगी। राज्य कर्मचारियों और शिक्षकों के लिए भी विशेष बूथ की व्यवस्था की गई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी 15 जून के बाद स्ट्रीट वेण्डर, दूध-सब्जी बेचने वाले या जिनका आम जनमानस से सीधा सम्बन्ध और संवाद होता है, उन सभी लोगों को भी स्पेशल बूथ के माध्यम से वैक्सीनेट करने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन का कार्यक्रम अब युद्ध स्तर पर आगे बढ़ेगा। कोरोना की सेकेण्ड वेव को प्रभावी ढंग से नियंत्रित करने में हमें सफलता प्राप्त हो रही है। विगत 24 घण्टे के अन्दर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मात्र 1,430 नये मामले आये हंै। प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या अब मात्र 32,000 रह गई है। आज से 61 जनपदों में कोरोना कफ्र्यू में सुबह 07 बजे से सांयकाल 07 बजे तक छूट दी गई है। यह व्यवस्था बनाई गई है कि जिन जनपदों में 600 से कम एक्टिव केस होंगे वहां स्वतः कोरोना कफ्र्यू में ढील दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे प्रत्येक दिन इसकी समीक्षा करते हैं, जिसकेे अनुसार इस सम्बन्ध में कार्यवाही की जाती है।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता से कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग और दो गज की दूरी को अपनाया जाए। निगरानी समितियां गांव-गांव, मोहल्ले-मोहल्ले जाकर लोगों की स्क्रीनिंग कर रही हैं। कोई भी व्यक्ति टेस्ट कराने से न भागे। सभी टेस्ट निःशुल्क हैं। वैक्सीन भी निःशुल्क है। 18 से 44 वर्ष की आयु के लोगों का निःशुल्क वैक्सीनेशन राज्य सरकार द्वारा तथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण केन्द्र सरकार द्वारा निःशुल्क किया जा रहा है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए यह भी कहा कि वैक्सीन जरूर लें, यह वैक्सीन कोरोना महामारी में एक सुरक्षा कवच का काम करेगी।

From around the web

Trending Videos