Follow us

आगामी सात माह का सघर्ष यूपी कांग्रेस के शानदार भविष्य के लिए महत्वपूर्ण व निर्णायक – प्रियंका गांधी

लखनऊ (DNA)। कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने...
 
आगामी सात माह का सघर्ष यूपी कांग्रेस के शानदार भविष्य के लिए महत्वपूर्ण व निर्णायक – प्रियंका गांधी

लखनऊ (DNA)। कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान कांग्रेस पदाधिकारियों, पूर्व सांसद, विधायकों, फ्रंटल संगठन के पदाधिकारियों से मुलाकात में यह बात स्पष्ट कर दिया है कि उत्तर प्रदेश में आगामी चुनाव को लेकर सभी महत्वपूर्ण फैसलों में सांगठनिक महत्व हर हाल मे अनिवार्य होगा। इसके साथ ही श्रीमती गांधी ने हर मीटिंग में स्पष्ट किया कि आगामी सात महीनें यूपी कांग्रेस के शानदार भविष्य के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण और निर्णायक होने वाले हैं। अब कांग्रेसजनों को खुद के राजनैतिक स्वाभिमान और सम्मान के लिए कमर कसते हुए जन आंदोलन की पहचान के साथ संगठन खड़ा करते हुए सरकार की जन विरोधी नीतियों का मुखर विरोध करना होगा।
श्रीमती गांधी ने कहा कि पार्टी अपने दमखम और मजबूत संगठन के साथ बेतहाशा मंहगाई, प्रदेश में बेकाबू हो रही बेरोजगारी, खेत मजदूरों, मझोले किसानों की दुर्दशा और प्रदेश में बढ़ रही महिला हिंसा, अपराध और सरकारी भ्रष्टाचार को प्रमुखता से मुद्दा बनाकर व्यापक रणनीति के साथ प्रदेश के समस्त ब्लाकों और न्याय पंचायतों पर लड़ाई लडऩे जा रही है, जिसका सारा खाका तैयार है।
उन्होंने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि प्रदेश में कांग्रेस अपनी मजबूत विचारधारा के सिपाहियों के दम पर आगामी विधानसभा चुनाव में बहुत ही शानदार प्रदर्शन करने जा रही है। श्रीमती गांधी ने कहा कि असली लड़ाई बूथ पर है, इसलिए प्रदेश की आगामी विधान सभा चुनाव लडऩे के इच्छुक नेताओं को सबसे पहले अपने क्षेत्र में बूथ स्तर पर मजबूत संगठन तैयार करना होगा। इसके साथ ही क्षेत्रीय मुद्दों के अलावा प्रदेश नेतृत्व द्वारा दिये जा रहे कार्यक्रमों और आंदोलन को लेकर बूथ स्तर पर पहुंचकर कार्यकर्ताओं की मजबूत सेना तैयार करनी होगी।
श्रीमती गांधी ने कांग्रेस पार्टी के पूर्व सांसदों, पूर्व विधायकों और पूर्व जिलाध्यक्षों को सम्बोधित करते हुए आवश्यक निर्देश दिए कि संगठन निर्माण की व्यापक चर्चा में उनके अनुभव को शामिल करने साथ ही मौजूदा युवा कार्यकर्ताओं, नेताओं के जोश को भी आधार बनाकर संगठन के निर्माण और संघर्ष की प्रक्रिया को अब और गति प्रदान करने की जरूरत है। इसके साथ ही विशेषत: नये युवा मतदाताओं और महिलाओं को विशेषत: संगठन से जोडऩे की मुहिम तेज करनी होगी। उन्होंने कहा कि जन मुद्दों पर अब अक्रामक रणनीति अपनाने का उचित समय आ गया है।

From around the web

Trending Videos