केन्द्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री गिरिराज सिंह ने कोरबा नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत जल शोधन संयंत्र का किया निरीक्षण

केन्द्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री गिरिराज सिंह ने कोरबा नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत जल शोधन संयंत्र का किया निरीक्षण
 
केन्द्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री गिरिराज सिंह ने कोरबा नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत जल शोधन संयंत्र का किया निरीक्षण

कोरबा : केन्द्रीय मंत्री  गिरिराज सिंह अपने कोरबा प्रवास के दौरान आज नगर निगम कोरबा के कोहड़िया में स्थित जलउपचार संयंत्र का निरीक्षण किया। केन्द्रीय मंत्री ने अमृत मिशन के अंतर्गत निर्मित 29 एमएलडी क्षमता के जल शोधन संयंत्र में पहुंचकर पेयजल शोधन की विभिन्न प्रक्रियाओं का अवलोकन किया। उन्होने जल संयंत्र के माध्यम से निगम क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति की व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। केन्द्रीय मंत्री ने निगम द्वारा पेयजल आवर्धन योजना भाग-2 के तहत किए गए कार्यों की विस्तार से जानकारी ली। इस मौके पर महापौर  राजकिशोर प्रसाद, कलेक्टर  संजीव झा, सभापति  श्यामसुंदर सोनी, आयुक्त  प्रभाकर पाण्डेय, अपर कलेक्टर  विजेन्द्र पाटले, जनप्रतिनिधि सुरेन्द्रप्रताप जायसवाल,  सपना चौहान सहित अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारीगण मौजूद रहे।


केन्द्रीय मंत्री ने कोहड़िया स्थित जलउपचार संयंत्र पहुंचकर वहॉं पर स्थापित किए गए 29 एम.एल.डी.जलउपचार संयंत्र की सभी कम्पोनेन्ट्स का गहराई के साथ जायजा लिया। साथ ही विभिन्न तकनीकी पहलुओं के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए पेयजल सप्लाई के लिए शोधित जल की गुणवत्ता आदि के बारे मे भी जानकारी ली। उन्होने शोधित जल में आवश्यक पोषक तत्वों की मात्रा के बारे में भी पूछा। केन्द्रीय मंत्री ने पानी की गुणवत्ता के बारे में जानकारी लेते हुए जल शोधन सिस्टम की डिजिटल मॉनिटरिंग की प्रक्रियाओं के बारे में भी पूछा। उन्होने लैब रूम में जाकर पानी की गुणवत्ता जांचने की प्रक्रिया का अवलोकन किया। केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कोहडिया के जल शोधन संयंत्र से लाभान्वित लोगो के बारे में भी जानकारी ली।


विभिन्न कम्पोनेन्ट्स का सूक्ष्म निरीक्षण - केन्द्रीय मंत्री  गिरिराज सिंह ने पेयजल आवर्धन योजना भाग-2 के तहत स्थापित 29 एम.एल.डी. जलउपचार संयंत्र तथा उसके सभी कम्पोनेन्ट्स यथा सी.एल.एफ., एइरेशन फाउंटेन, फिल्टर बेड, पी.एल.सी.स्काडा, पानी टेस्टिंग लैब का सूक्ष्मता के साथ निरीक्षण किया। इस दौरान योजना के विभिन्न कार्यों की जानकारी देते हुए आयुक्त  प्रभाकर पाण्डेय ने बताया कि इसके तहत डब्ल्यू.टी.पी.स्थापना के साथ-साथ सर्वेश्वर एनीकट का निर्माण, 387 किलोमीटर पाईप लाईन, 01 एम.बी.आर. के साथ ही 13 ओव्हर हैड टैंक स्थापित कराए गए हैं तथा निगम द्वारा निर्धारित मानक के अनुरूप प्रतिदिन शोधित जल की आपूर्ति की जा रही है। पेयजल आवर्धन भाग-2 के तहत मीटरयुक्त 21 हजार नल कनेक्शन 25 वार्ड में दिए गए हैं तथा डेढ़ लाख की जनसंख्या को इसके द्वारा शुद्ध पेयजल प्रतिदिन उपलब्ध कराया जा रहा है।

From around the web

Trending Videos