मठपारा के बेजा कब्जाधारियों पर नहीं होगी बेदखली की कार्यवाही : कलेक्टर कुन्दन कुमार

मठपारा के बेजा कब्जाधारियों पर नहीं होगी बेदखली की कार्यवाही : कलेक्टर कुन्दन कुमार
 
मठपारा के बेजा कब्जाधारियों पर नहीं होगी बेदखली की कार्यवाही : कलेक्टर कुन्दन कुमार

अम्बिकापुर :  कलेक्टर कुन्दन कुमार ने कहा है कि नगर निगम अम्बिकापुर अंतर्गत मठपारा के बेजा कब्जाधारियों पर बेदखली की कार्यवाही नहीं होगी। जिला  प्रशासन द्वारा राजस्व एवं नगर निगम की टीम के माध्यम से वर्तमान में मठपारा में लोग कहां से वे कब से आकर रह रहे है इसकी सर्वे की जा रही है ताकि जो लोग शासन की योजनाओं से वंचित हैं उन्हें लाभ मिल सके। कलेक्टर ने मंगलवार को आयोजित जनचौपाल में मठपारा से आए लोगों की समस्या का निराकरण करते हुए उन्हें आश्वस्त किया। उन्होंने जिन मकानों के बिजली कनेक्शन काटे गए थे उन्हें तत्काल जोड़ने के निर्देश विद्युत विभाग के अधिकारियों को दिए। जनचौपाल में सुभाषनगर निवासी दिव्यांग अखिलेश तिवारी, कतकालो के महेश्वर लकड़ा व रामधनी एक्का को ट्राइसिकल दिया गया। इसके साथ ही दृष्टिबाधित दिव्यांग गौतम, पार्वती को दिव्यांगता प्रमाण पत्र, आयुष्मान कार्ड, राशनकार्ड तथा जनधन खाता का पासबुक भी प्रदान किया गया। इसी प्रकार बतौली निवासी परित्यक्ता सरस्वती साहू को भी तत्काल राशनकार्ड मिला।


नन्ही अहाना का होगा ईलाज- अम्बिकापुर जनपद के ग्राम बढ़नीझरिया निवासी  रमाशंकर पंडों की तीन माह की पुत्री अहाना को ऑपरेशन एवं ईलाज के लिए चिरायु कार्यक्रम एवं मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना के तहत 10 लाख रुपये सहायता राशि दी जाएगी। कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को अहाना के ईलाज हेतु रायपुर आने-जाने के लिए परिजनों के लिए एंबुलेंस उपलब्ध करने के भी निर्देश दिए। अहाना के परिजनों ने बताया कि चिकित्सकों के अनुसार अहाना को लिवर में समस्या है जिसके उपचार के लिए ऑपरेशन की जरूरत है तथा करीब 10 लाख रुपये खर्च बताया है।


दिव्यांगों को मिलेगी व्हील चेयर की सुविधा- कलेक्टर  कुंदन कुमार ने जनचौपाल में आने वाले दिव्यांगों को आवेदन लेकर  समक्ष उपस्थित होने में सुविधा प्रदान करते हुए दिव्यांगों के लिए व्हील चेयर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। जिसके अनुपालन स्वास्थ्य विभाग द्वारा जनचौपाल में अस्थिबाधित दिव्यांगों के लिए तत्काल व्हील चेयर उपलब्ध कराया गया। कलेक्टर ने जनचौपाल में आने वाले लोगों के लिए आवेदन तैयार करने की सुविधा प्रदान करने हेतु पंजीयन काउंटर के पास कम्प्यूटर सिस्टम व ऑपरेटर की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए।


 कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनचौपाल में मिले आवेदनों में से अधिकांश का समाधान जनचौपाल में ही करें तभी लोगों को ज्यादा से ज्यादा राहत मिलेगी। उन्होंने राजस्व संबंधी समस्याओं के निराकरण के एस.डी.एम. एवं तहसीलदार को प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए।


इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक  भावना गुप्ता, जिला पंचायत सीईओ विनय कुमार लंगेह, वनमंडलाधिकारी  पंकज कमल, नगर पालिक निगम की आयुक्त प्रतिष्ठा ममगई, अपर कलेक्टर  ए.एल. धु्रव सहित समस्त एस.डी.एम., तहसीलदार तथा जिला अधिकारी उपस्थित थे।  

From around the web

Trending Videos