हाईस्कूलों एवं हायर सेकण्डरी स्कूलों की अब की जायेगी ग्रेडिंग

हाईस्कूलों एवं हायर सेकण्डरी स्कूलों की अब की जायेगी ग्रेडिंग
 
हाईस्कूलों एवं हायर सेकण्डरी स्कूलों की अब की जायेगी ग्रेडिंग

उत्तर बस्तर कांकेर :  कलेक्टर कांकेर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने जिले में संचालित हायर सेकंडरी विद्यालयों के प्राचार्यो की बैठक लेकर बोर्ड परीक्षा में अच्छे परिणाम लाने हेतु बेहतर और नियमित रूप से प्रयास करने के निर्देश दिये हैं।  पालक-बालक सम्मेलन को प्रतिमाह हर्षोल्लास से मनाने तथा सभी शासकीय विद्यालयों में स्टुडेण्ट डेली डायरी का संधारण करने एवं उनका मानिटरिंग व सुपरविजन करने के निर्देश दिये हैं। सभी बच्चों को होमवर्क देने, उसे नियमित रूप से जांच करने तथा प्रत्येक दिन प्राचार्य द्वारा स्टाफ की बैठक कर लक्ष्य निर्धारित करने के निर्देश दिये गये हैं। बच्चों की ग्रेडिंग, शिक्षकों की ग्रेडिंग, प्राचार्य की ग्रेडिंग तथा शाला की ग्रेडिंग के साथ-साथ विकासखंड की भी ग्रेडिंग करने हेतु कार्ययोजना तैयार कर प्रेषित करने के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने बेहतर परिणाम के लिए सामूहिक प्रयास पर बल दिया।


कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने शिक्षा गुणवत्ता में सुधार हेतु कार्ययोजना बनाने तथा हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों में विद्यार्थियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि प्रत्येक माह कक्षा 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों की शिक्षा गुणवत्ता का आंकलन किया जायेगा तथा इसकी समीक्षा स्वयं उनके द्वारा की जायेगी। स्कूलों में शिक्षकों की समय पर उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि उपस्थिति पंजी में आगमन एवं निर्गमन का समय अंकित किया जावे। लम्बे समय तक अनुपस्थित रहने वाले विद्यार्थियों के पालकों के साथ काउंसलिंग कर ऐसे बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा में जोड़ने के निर्देश भी दिये गये। प्राथमिक तथा माध्यमिक विद्यालयों के छात्र-छात्राओं को प्रयास एवं जवाहर नवोदय विद्यालय में चयन के लिए तैयारी कराने और कक्षा 9वीं से 12वीं के बच्चों को नीट, जेईई, पीईटी जेसे अन्य परीक्षाओं की तैयारी कराने के लिए भी निर्देशित किया गया। इसके लिए सभी हायर सेकेण्डरी विद्यालयों में कैरियर गाईडेंस की कक्षाऐं संचालित करने तथा किसी एक शिक्षक को नोडल नियुक्त करने के निर्देश दिये गये। जिले के समस्त शासकीय विद्यालयों में माह के अंतिम शुक्रवार को पालक-बालक सम्मेलन आयोजित करने तथा चिरायु योजना के तहत प्रत्येक विद्यार्थी का हेल्थ कार्ड बनाने के लिए कहा गया, ताकि बच्चों का प्रतिमाह हेल्थ चेकअप हो सके और बीमार बच्चों को ईलाज तत्काल किया जा सके।


         कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने शाला स्तर पर शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार हेतु कार्ययोजना तैयार करने तथा दिसम्बर माह तक सभी सेलेबस पूर्ण करने के निर्देश भी दिये गये, ताकि विद्यार्थियों को वार्षिक परीक्षा के लिए माह जनवरी से फरवरी तक स्पेशल फोकस किया जा सके। माह अगस्त से कमजोर बच्चों को उपचारात्मक शिक्षा देने तथा मानिटरिंग सिस्टम को दुरूस्त करने के लिए विकासखंड शिक्षा अधिकारी एवं सहायक खंड शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये गये। हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी विद्यालयों के शिक्षकों का माह अगस्त से मोटिवेशन एवं विषयगत प्रशिक्षण आयोजित करने के लिए निर्देशित किया गया।  कलेक्टर ने शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रथम चरण में हायर सेकेण्डरी विद्यालयों की समीक्षा की गई है, द्वितीय चरण में हाई स्कूलों की समीक्षा की जावेगी। इसके अतिरिक्त संकुल समन्वयकों की बैठक उपरांत प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला की शिक्षा गुणवत्ता में सुधार करने तथा मूल्यांकन सिस्टम को दुरूस्त करने हेतु विस्तृत कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया गया। बैठक में जिले के 139 हायर सेकण्डरी विद्यालय के प्राचार्य, डीईओ भुवन जैन, सहायक आयुक्त श्रीकांत केसर, आर.पी.मिरे, नवीन सिन्हा, नवनीत पटेल, दिनेश नाग, पंकज श्रीवास्तव, समस्त बीईओ तथा एबीईओ मौजूद थे।

From around the web

Trending Videos