वर्मी कम्पोस्ट के उपयोग को बढ़ावा देने किसानों को किया जाए प्रोत्साहित : मंत्री मोहम्मद अकबर

वर्मी कम्पोस्ट के उपयोग को बढ़ावा देने किसानों को किया जाए प्रोत्साहित : मंत्री मोहम्मद अकबर
 
वर्मी कम्पोस्ट के उपयोग को बढ़ावा देने किसानों को किया जाए प्रोत्साहित : मंत्री मोहम्मद अकबर

रायपुर :  वन एवं परिवहन मंत्री  मोहम्मद अकबर और सहकारिता एवं आदिम जाति कल्याण मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज अधिकारियों की बैठक लेकर सहकारिता विभाग के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। मंत्री  अकबर ने कहा कि प्रदेश में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए वर्मी कम्पोस्ट के प्रति किसानों को प्रोत्साहित किया जाए। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा किसानों को ब्याज मुक्त दी जाने वाली अल्पकालीन कृषि ऋण वितरण व्यवस्था सहित किसानों के मांग के अनुरूप रासायनिक उर्वरकों का भंडारण एवं वितरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसानों को फसल के लिए पर्याप्त मात्रा में प्रमाणित बीज का भंडारण एवं वितरण सुगमता के साथ किया जाए ताकि खरीफ सीजन में बोनी के समय किसानों को प्रमाणित बीज प्राप्ंत करने में कोई परेशानी न हो।


    बैठक में मंत्रीद्वय  अकबर और डॉ. टेकाम ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा इस खरीफ विपणन वर्ष 2022 में किसानों के लिए 5 हजार 800 करोड़ रूपए का ब्याज मुक्त कृषि ऋण वितरण का लक्ष्य रखा गया है। इस वर्ष के 11 मई तक किसानों को 965 करोड़ रूपए का ब्याज मुक्त कृषि ऋण वितरित किए जा चुके हैं। जबकि पिछले खरीफ वर्ष में इस तारीख को 39 करोड़ 32 लाख रूपए का ऋण वितरित किया गया था।  


    मंत्रियों ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर राज्य सरकार प्रदेश में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए वर्मी कम्पोस्ट का उपयोग करने के लिए किसानों को प्रोत्साहित कर रही है। सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों को वर्मी कम्पोस्ट उपलब्ध कराया जा रहा है। समितियों द्वारा किसानों को प्रति एकड़ 1 क्विंटल के मान से वर्मी कम्पोस्ट वितरित किया जा रहा है। साथ ही किसानों की आवश्यकता तथा मांग पर अतिरिक्त वर्मी कम्पोस्ट वितरण की व्यवस्था भी की गई है। सहकारी समितियों के माध्यम से लगभग 20 लाख 5 हजार 139 किसानों के कुल रकबा 40 लाख 31 हजार 230 एकड़ में प्रति एकड़ 1 क्विंटल सुपर कम्पोस्ट खाद के मान से रकबा के बराबर ही वर्मी कम्पोस्ट खाद वितरण व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गयी है।


    मंत्रियों ने बैठक में बताया कि सुपर कम्पोस्ट खाद के साथ ही इस वर्ष किसानों को 8.55 लाख मीट्रिक टन रासायनिक खाद वितरित करने का लक्ष्य है। अभी तक किसानों को 0.51 लाख मीट्रिक टन रासायनिक उर्वरक वितरित किये जा चुके हैं। वर्तमान में सहकारी समितियों में 1.58 लाख मीट्रिक टन रासायनिक खाद उपलब्ध है।


बैठक में विधायक सत्यनारायण शर्मा, अपेक्स बैंक के चेयरमैन  बैजनाथ चंद्राकर, जिला सहकारी बैंक रायपुर के अध्यक्ष  पंकज शर्मा, जिला सहकारी बैंक दुर्ग के अध्यक्ष  जवाहर वर्मा, जिला सहकारी बैंक राजनांदगांव के अध्यक्ष  नवाज खान, जिला सहकारी बैंक बिलासपुर के अध्यक्ष  प्रमोद नायक और जिला सहकारी बैंक सरगुजा (अंबिकापुर) के श्रीराम जी राव, सहकारिता विभाग के विशेष सचिव  हिमशिखर गुप्ता, अपर पंजीयक सहकारी संस्थाएं एच.के. दोषी, सहकारिता विभाग के उप सचिव पी.एस. सर्पराज, अपैक्स बैंक के प्रबंध संचालक  के.एन. कान्डे सहित जिला सहकारी केन्द्रीय बैंकों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उपस्थित थे।

From around the web

Trending Videos