सीतापुर में बनेगा ऑडिटोरियम, केरजू में खुलेगी पुलिस चौकी

सीतापुर में बनेगा ऑडिटोरियम, केरजू में खुलेगी पुलिस चौकी
 
सीतापुर में बनेगा ऑडिटोरियम, केरजू में खुलेगी पुलिस चौकी

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भेंट मुलाकात कार्यक्रम के तहत आज सीतापुर विधानसभा क्षेत्र के मंगरैलगढ़ ग्राम पहुंचे। मुख्यमंत्री ने यहां ऐतिहासिक मंगरैलगढ़ी देवी मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि एवं खुशहाली की कामना की। उन्होंने मंदिर परिसर में बेल का पौधा भी लगाया। मंगरैलगढ़ राम वनगमन परिपथ से संबंधित है, जहां वनवास के दौरान भगवान श्री राम ने भ्रमण किया था।

भेंट मुलाकात कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने मंगरैलगढ़ में कई बड़ी घोषणाएं भी की। इनमें मंगरैलगढ़ भौंराडांड मांड नदी तक सड़क निर्माण, मंगरैलगढ़ मांड नदी पर एनीकट निर्माण, मंगरैलगढ़ प्राथमिक एवं मीडिल स्कूल के नए भवन का निर्माण, केरजू में पुलिस चौकी की स्थापना, सीतापुर में ऑडिटोरियम का निर्माण, मंगरैलगढ़ में 25 लाख के सामुदायिक भवन के निर्माण जैसी बड़ी घोषणाएं शामिल हैं।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि हमने सरकार बनते ही सबसे पहले किसानों की ऋण माफी का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों को कर्ज के बोझ से मुक्त कर दिया है। किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ मिल रहा है। इस योजना के तहत धान के समर्थन मूल्य के साथ इनपुट सब्सिडी मिलाकर 2500 रूपए प्रति क्ंिवटल की दर से किसानों को लाभ दिया गया है। इसके अलावा स्थानीय युवाओं को रचनात्मक कार्यो से जोड़ने के लिए राजीव युवा मितान क्लब का भी गठन ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में किया गया है। इससे युवाओं को सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री ने वहां उपस्थित क्लब के सदस्यों से कहा कि आपको शासन के प्रत्येक योजनाओं की जानकारी होनी चाहिए, जिससे आपके माध्यम से स्थानीय लोगों तक योजनाओं की पहंुच बढ़ेगी।


भेंट-मुलाकात के दौरान उपस्थित एनिमा खेस ने आमजन के हित में राज्य शासन द्वारा चलाई जा रही लोक कल्याणकारी योजनाओं के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। एक बच्चे ने मुख्यमंत्री को बताया कि उसके माता-पिता का निधन हो गया है, वह अकेला है। इस पर मुख्यमंत्री ने संवेदनशीलता जताते हुए बच्चे को छात्रावास में प्रवेश दिलाने के लिए कलेक्टर को निर्देश दिया।


मुख्यमंत्री ने मंगरैलगढ़ में मातृछाया आवासीय संस्कृत विद्यालय पहंुच कर वहां पढ़ रहे बच्चों से मुलाकात की। मुख्यमंत्री के आगमन पर यहां के बच्चों ने गुलमोहर फूल से बना  गुलदस्ता देकर उनका स्वागत किया। बच्चों ने मुख्यमंत्री के आगमन पर उनके लिए स्वागत गीत भी गाया। बच्चों ने ’झूम-झूम हर कली बार बार कह चली आप जो आए तो महक उठी गली-गली’ गीत गाकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया।


इस दौरान मुख्यमंत्री ने स्वसहायता समूह की महिलाओं से बहुत ही अपनत्व भाव से पूछा कि गौठान से मेरे लिए क्या लाये हो। इस पर स्थानीय स्वसहायता समूह की महिलाओं ने खुद के बनाए हुए स्थानीय उत्पादों की टोकरी भेंट की और गौठान योजना के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। मुख्यमंत्री  बघेल ने भेंट मुलाकात कार्यक्रम में स्थानीय लोगों से बात करते हुए योजनाओं के बारे में पूछा और लोगों की समस्याओं से जुड़े प्रश्नों पर स्थानीय अधिकारियों को तत्काल निराकरण करने का निर्देश दिया।

From around the web

Trending Videos