कक्षा 5वीं का परीक्षा परिणाम 90.01 प्रतिशत और 8वीं का 82.35 प्रतिशत

कक्षा 5वीं का परीक्षा परिणाम 90.01 प्रतिशत और 8वीं का 82.35 प्रतिशत
 
कक्षा 5वीं का परीक्षा परिणाम 90.01 प्रतिशत और 8वीं का 82.35 प्रतिशत

भोपाल : प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा  रश्मि अरुण शमी ने राज्य शिक्षा केंद्र सभागृह में सिंगल क्लिक से कक्षा 5वीं और 8वीं का परीक्षा परिणाम घोषित किया।  शमी ने परीक्षा में उत्तीर्ण सभी विद्यार्थियों, उनके शिक्षकों और अभिभावकों को बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाएँ दी हैं। कक्षा 5वीं का परीक्षा परिणाम 90.01 प्रतिशत और कक्षा 8वीं का परीक्षा परिणाम 82.35 प्रतिशत रहा है। बारह वर्ष बाद बोर्ड पैटर्न में घोषित दोनों कक्षाओं की उत्तीर्ण सूची में इस वर्ष छात्राएँ, छात्रों की तुलना में आगे रही हैं। 

कक्षा 5वीं का परीक्षा परिणाम

कक्षा 5वीं की परीक्षा में कुल 8 लाख 26 हजार 824 परीक्षार्थी शामिल थे, जिसमें 7लाख 44 हजार 247 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। कक्षा 5वीं की परीक्षा में 4 लाख 4 हजार 92 छात्र शामिल थे, जिनमें 3लाख 60 हजार 784 छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। कक्षा 5वीं में उत्तीर्ण छात्रों का प्रतिशत 89.28 प्रतिशत रहा। कक्षा 5वीं की परीक्षा में कुल 4 लाख 22 हजार 732 छात्राएँ शामिल थीं, जिनमें 3लाख 83हजार 463 छात्राएँ उत्तीर्ण हुई हैं। कक्षा 5वीं में उत्तीर्ण छात्राओं का प्रतिशत 90.71 प्रतिशत रहा। कक्षा 5वीं की परीक्षा में शहडोल संभाग का उत्तीर्ण प्रतिशत सर्वाधिक रहा, यहाँ 94.11 प्रतिशत परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए।

कक्षा 8वीं का परीक्षा परिणाम

कक्षा 8वीं की परीक्षा में कुल 7 लाख 56 हजार 967 परीक्षार्थी शामिल थे, जिसमें 6 लाख 23 हजार 370 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। कक्षा 8वीं की परीक्षा में 3 लाख 66 हजार 572 छात्र शामिल थे, जिनमें 2 लाख 94 हजार 160 छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। कक्षा 8वीं में उत्तीर्ण छात्रों का प्रतिशत 80.25 प्रतिशत रहा। कक्षा 8वीं की परीक्षा में कुल 3 लाख 90 हजार 395 छात्राएँ शामिल थीं, जिनमें 3लाख 29 हजार 210 छात्राएँ उत्तीर्ण हुई हैं। कक्षा 8वीं में उत्तीर्ण छात्राओं का प्रतिशत 84.33 प्रतिशत रहा। कक्षा 8वीं की परीक्षा में इंदौर संभाग का उत्तीर्ण प्रतिशत सर्वाधिक रहा, यहाँ 88.77 प्रतिशत परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए।

स्कूल शिक्षा विभाग ने प्राथमिक एवं माध्यमिक परीक्षाओं कक्षा 5वीं एवं कक्षा 8वीं का परीक्षाफल बोर्ड पैटर्न पर जारी किया लेकिन दोनों ही परीक्षाओं के राज्य एवं जिले स्तर की मेरिट लिस्ट जारी नही की गई हैं। प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा रश्मि अरुण शमी ने बताया कि प्राथमिक एवं माध्यमिक कक्षाओं के बच्चों में होशियार एवं कमजोर होने को लेकर किसी तरह की हीन भावना प्रवेश न कर सके, इस उद्देश्य को निहित करते हुए सिर्फ रिजल्ट जारी किए गए हैं, मेरिट लिस्ट जारी नहीं की गई हैं।

फेल विषय भर की होगी परीक्षा

राज्य शिक्षा केंद्र संचालक धनराजू एस ने बताया कि कक्षा 5वीं एवं कक्षा 8वीं की परीक्षाओं में परीक्षार्थी जिस विषय में फेल हुआ है, उसकी उसी विषय भर की परीक्षा करवाई जायेगी। अपर मिशन संचालक लोकेश जांगिड़ सहित स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

From around the web

Trending Videos