Follow us

वायु सेना की लड़ाकू विमानों की अपग्रेडिंग करने की तैयारी हुई शुरु

नई दिल्ली। भारत को फ्रांस से अब तक 30 राफेल लड़ाकू विमान मिल चुके हैं।...
 
वायु सेना की लड़ाकू विमानों की अपग्रेडिंग करने की तैयारी हुई शुरु

नई दिल्ली। भारत को फ्रांस से अब तक 30 राफेल लड़ाकू विमान मिल चुके हैं। भारतीय वायुसेना अगले साल जनवरी से इसे अपग्रेड करना शुरू करेगी।


भारतीय वायु सेना के अधिकारियों की एक उच्च स्तरीय टीम टेस्ट किए गए लड़ाकू विमान क्रक्च-008 के प्रदर्शन का मूल्यांकन करने के लिए फ्रांस में है। इस विमान को भारतीय विशिष्ट संवर्द्धन से लैस किया गया है। दोनों पक्षों के बीच इसको लेकर 2016 में सहमित बनी थी।


एक बार जब भारतीय वायु सेना इसके संवर्द्धन को मंजूरी दे देती और स्वीकार कर लेती है, तो भारतीय विमानों को और अधिक सक्षम बनाने के लिए अगले साल जनवरी से अपग्रेड शुरू करने की योजना है। गौरतलब है कि भारत विशिष्ट संवर्द्धन में अत्यधिक सक्षम मिसाइलों, कम बैंड जैमर और भारतीय आवश्यकताओं के अनुसार उपग्रह संचार प्रणाली हैं। भारत इनमें से भारत को लगभग 30 विमान पहले ही मिल चुके हैं और उनमें से तीन और 7-8 दिसंबर को भारत पहुंचेंगे। बता दें कि भारत ने फ्रांस के साथ 2016 में 36 राफेल लड़ाकू विमानों के लिए 60000 करोड़ रुपये की डील की थी। इस डील में भारतीय वायुसेना के प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने अहम भूमिका निभाई थी।


राफेल विमानों पर आरबी और बीएस सीरीज

भारत को 36 राफेल विमान मिलेंगे, जिनके टेल नंबर आरबी और बीएस सीरीज में होंगे। आरबी सीरीज राकेश भदौरिया के नाम का है। वहीं, बीबएस सीरीज वायु सेना के पूर्व प्रमुख बीरेंद्र सिंह धनोआ के नाम का है। सभी लड़ाकू विमान शामिल हो जाने के बाद भारतीय वायु सेना के बेड़े में आरबी सीरीज के आठ ट्विन-सीटर ट्रेनर विमान होंगे जबकि बीएस सीरीज 28 सिंगल-सीटर विमान होंगे।

From around the web

Trending Videos