Follow us

रिश्वत मामले में डॉक्टर व टीआई के खिलाफ ग्रामीणों ने की कार्रवाई की मांग

मानपुर/राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ के मानपुर ब्लॉक अंतर्गत औंधी इलाके में स्थानीय थानेदार व डॉक्टर पर ग्रामीण...
 
रिश्वत मामले में डॉक्टर व टीआई के खिलाफ ग्रामीणों ने की कार्रवाई की मांग

मानपुर/राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ के मानपुर ब्लॉक अंतर्गत औंधी इलाके में स्थानीय थानेदार व डॉक्टर पर ग्रामीण की मृत्यु पर मिले मुआवजे की राशि के एवज में मृतक के भाई से रिश्वत लेने तथा उसे जान से मारने की धमकी देने के तथाकथित मामले में स्थानीय ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों व यादव समाज के पदाधिकारियो ने कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए उक्त थानेदार व डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। ग्रामीण,जनप्रतिनिधि व सामाजिक नेता गण पीडि़त युवक के साथ बड़ी संख्या में औंधी थाने पहुंचे जहां उन्होंने डॉक्टर व थानेदार पर एफआईआर दर्ज करने हेतु लिखित शिकायत भी दी। इस दौरान तत्काल एफआईआर दर्ज न करने की बात को लेकर थाने में मौजूद अफसर व ग्रामीणों के बीच जमकर बहसबाजी भी हुई।

बता दें कि औंधी थाना प्रभारी तारण दास डहरिया तथा स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉक्टर यशपाल सुमन पर तथाकथित तौर पर ग्राम बगडोंगरी के युवक तिलक यादव ने आरोप लगाया है कि शर्पदंश से उसके भाई की मौत होने पर पोस्ट मार्डम रिपोर्ट में शर्पदंश से मौत लिखने के एवज में मुआवजे की राशि से एक लाख से अधिक रुपए डॉक्टर व थानेदार ने उससे ऐंठ लिए । वहीँ इसके अलावा डॉक्टर द्वारा फिर से एक लाख रुपए की डिमांड की गई। जब उसने और पैसे देने में आनाकानी की तो डॉक्टर द्वारा जहर वाला इंजेक्शन लगाकर उसे परिवार समेत मार देने की भी धमकी दी। कुछ दिन पूर्व ही मामले पर पीडि़त पक्ष की शिकायत के बाद हालांकि पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारी तारण दास डहरिया को सस्पेंड कर मामले की जांच एसडीओपी मानपुर को सौंप दी है लेकिन स्वास्थ्य विभाग मामले में अडिय़ल बना हुआ है अब तक डॉक्टर सुमन पर कोई कार्यवाही नही हुई है। दूसरी ओर हमने जब जांच अधिकारी एसडीओपी हरीश पाटिल से से बात की तो उन्होंने कहा कि मामला जांच में है हमने अपनी विभागीय कार्यवाही कर थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया है, डॉक्टर पर कार्यवाही स्वास्थ्य विभाग करेगी, हमारी जांच में दोनो दोषी होंगे तो दोनो पर एफआईआर दर्ज होगी। वही राजनांदगाँव सीएमएचओ मिथलेश चौधरी ने हमसे कहा कि उन्होंने सम्पूर्ण मामले की रिपोर्ट स्वास्थ्य संचालनालय को भेज दी है कार्यवाही वहीँ से होगी।

From around the web

Trending Videos