Follow us

आयकर विभाग ने बेंगलुरू में सर्वेक्षण किए

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने दिनांक 08.07.2021 को बेंगलुरु में भारत के अग्रणी मैनपावर सेवा प्रदाताओं में...
 
आयकर विभाग ने बेंगलुरू में सर्वेक्षण किए

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने दिनांक 08.07.2021 को बेंगलुरु में भारत के अग्रणी मैनपावर सेवा प्रदाताओं में से एक के दो व्यावसायिक परिसरों पर एक सर्वेक्षण अभियान चलाया । कर निर्धारिती द्वारा आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80JJAA- जो कुछ शर्तें पूरी किए जाने पर नये रोजगार सृजन को प्रोत्साहित करती है, जैसे कर्मचारी को भुगतान की गई परिलब्धियां (जो 25,000 रुपये प्रति माह से कम होनी चाहिए) और रोजगार के दिनों की संख्या इत्यादि- के अंतर्गत भारी कटौती का दावा किया गया है ।

सर्वे अभियान के दौरान आयकर अधिनियम, 1961 में कटौती के गलत दावों के संबंध में कर चोरी के साक्ष्य एकत्र किए गए हैं । जांच में आगे पता चला है कि भले ही नये कर्मचारियों की परिलब्धियां 25,000 रुपये प्रति माह से अधिक थीं, कर निर्धारिती ने ऐसे कर्मचारियों को मिलने वाली परिलब्धियों के कुछ घटकों को शामिल न करके उक्त धारा के अंतर्गत ग़लत तरीक़े से कटौती का दावा किया था ताकि वह 25,000 रुपये प्रतिमाह की परिलब्धियों की अर्हता सीमा में फिट हो पाए ।

इसके अतिरिक्त यह पाया गया है कि बाद के वर्षों में कटौती का दावा किया गया है, भले ही पात्रता प्राप्त कुछ कर्मचारी अब निर्धारिती के पेरोल पर नहीं थे ।

कुल मिलाकर इस सर्वे में विभिन्न आकलन वर्षों में फैले 880 करोड़ रुपये तक की आय को छुपाने का पता चल गया है।

आगे की जांच चल रही है।

From around the web

Trending Videos