Follow us

तालिबान के साथ बातचीत फिर से शुरू करेगा अमेरिका

न्यूयॉर्क। अमेरिका ने कहा है कि तालिबान के साथ वार्ता अगले सप्ताह फिर से शुरू...
 
तालिबान के साथ बातचीत फिर से शुरू करेगा अमेरिका

न्यूयॉर्क। अमेरिका ने कहा है कि तालिबान के साथ वार्ता अगले सप्ताह फिर से शुरू होगी. बातचीत अफगानिस्तान में आतंकवाद और मानवीय संकट पर केंद्रित होगी.अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि तालिबान के साथ अगले सप्ताह कतर में बातचीत फिर से शुरू होगी. प्रस्तावित दो सप्ताह की वार्ता में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत टॉम वेस्ट करेंगे. अफगानिस्तान की स्थिति पर चिंता नेड प्राइस के मुताबिक दोनों पक्ष परस्पर महत्वपूर्ण राष्ट्रीय हितों पर चर्चा करेंगे. इनमें आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट और अल कायदा के खिलाफ ऑपरेशन, अफगानिस्तान को मानवीय सहायता का प्रावधान, देश की तबाह अर्थव्यवस्था, अमेरिकी नागरिकों और उसके लिए 20 साल से काम करने वाले अफगानों की सुरक्षित निकासी जैसे मुद्दे शामिल हैं. टॉम वेस्ट ने दो हफ्ते पहले पाकिस्तान में तालिबान के प्रतिनिधियों से मुलाकात की थी.

अमेरिकी सेना की पूर्ण वापसी के बाद अगस्त में तालिबान ने अफगानिस्तान में सत्ता पर कब्जा कर लिया. अमेरिका और तालिबान के बीच पहले दौर की वार्ता कतर की राजधानी दोहा में 9 और 10 अक्टूबर को हुई थीतालिबान की अमेरिका से मांग अमेरिका से तालिबान को वित्तीय और राजनयिक समर्थन के लिए शर्तों को दोहराते हुए टॉम वेस्ट ने कहा कि उन्हें आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई, एक समावेशी सरकार की स्थापना, अल्पसंख्यकों, महिलाओं व लड़कियों के अधिकारों का सम्मान, शिक्षा और रोजगार में समान अवसर प्रदान करना सम्मिलित है. वेस्ट ने कहा कि वॉशिंगटन तालिबान के साथ बातचीत जारी रखेगा और अभी के लिए केवल मानवीय सहायता प्रदान की जाएगी. पिछले हफ्ते अमेरिकी कांग्रेस को एक खुले पत्र में तालिबान के विदेश मंत्री अमीर खान मुत्तकी ने अफगानिस्तान की फ्रीज हुई संपत्ति को बहाल करने के लिए अमेरिका से आह्वान किया था. अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने अभी तक तालिबान सरकार को मान्यता नहीं दी है. इस बीच संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि बढ़ती भूख और सहायता आपूर्ति पर रोक के कारण अफगानिस्तान में स्थिति लगातार चिंताजनक होती जा रही है. डीडब्ल्यू के साथ एक विशेष साक्षात्कार में संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) के संचार प्रमुख सामंथा मोर्ट ने कहा स्थिति असाधारण ध्यान देने की मांग करती है और संकट तेजी से सभी को प्रभावित कर रहा है. उन्होंने बताया कि यूनिसेफ और अन्य सहायता एजेंसियां सर्दियों से पहले जरूरतमंद लोगों तक पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं. उन्होंने कहा, यूनिसेफ चार्टर्ड उड़ानों और पाकिस्तानी सीमा के माध्यम से सहायता पहुंचा रहा है लेकिन हर गुजरते दिन के साथ ठंड बढ़ रही है

From around the web

Trending Videos