शिवनाथ नदी में 48 घण्टो से प्रशासन मुस्तेद, पर नही दिख रहा है ब्रिज का अंधेरा

– हो सकता है और कोई हादसा! दुर्ग , 20 जुलाई (आरएनएस)। शिवनाथ नदी में कार गिरने के 48 घण्टे के बाद भी अब तक कोई सुराग नही मिल पाया हैं। वही इस घटना को लेकर तरह तरह की चर्चाएं होने लगी है जबकि प्रशासन अमला मुस्तेदी के साथ जुटी हुई है।इस घटना को लेकर एसडीआरएफ
 

– हो सकता है और कोई हादसा!

दुर्ग , 20 जुलाई (आरएनएस)। शिवनाथ नदी में कार गिरने के 48 घण्टे के बाद भी अब तक कोई सुराग नही मिल पाया हैं। वही इस घटना को लेकर तरह तरह की चर्चाएं होने लगी है जबकि प्रशासन अमला मुस्तेदी के साथ जुटी हुई है।इस घटना को लेकर एसडीआरएफ व गोताखोरों की मदद से सर्चिंग अभियान में लगी हुई है। परंतु टीम को सफलता नही मिल पाई है। इतनी बड़ी घटना  हुई पर घटना स्थल के पास के 3 हाई मास्क बन्द है। 7 दिनों से अब तक ब्रिज विभाग की लापरवाही से नदी के आस पास अंधेरा ही अंधेरा है । इस दिशा में प्रशासन की लापरवाही दिख रही है। वही शिवनाथ नदी के ओवर ब्रिज में लग रहा जाम  तथा 3 दिन से तलाशी के बाद अब तक नही मिला कार डूबने का सुराग।
  दुर्ग निगम के एल्डरमैन राजेश शर्मा ने प्रशासन से अपील की है ब्रिज के ऊपर की यातायात व्यवस्था सुधारे, साथ ही हाईमास्क 3 पोल जो बन्द है पिछले कुछ दिनों से उसे लोक निर्माण विभाग ब्रिज से सुधार का निर्देश देवे जिससे गुरुद्वारा से शहर की तरफ काफी दिनों से स्ट्रीट लाइट व हाई मास्क बन्द है उसे जल्द चालू हो।उन्होंने कहा कि नदी में पानी का बहाव बहुत तेज है ।  7 फिट नीचे पानी दोनो तरफ पुराने ब्रिज पर बेरियर लगा ऊपर के ओवरब्रिज से छोटी बड़ी गाढ़ी वाले उसमे बहुत से लोग पूरे परिवार बच्चो सहित पहुँच रहे है। वे लोग ऊपर से नीचे झांक कर देख रहे है, फोटो ग्राफी भी कर रहे। जिससे कोई अनहोनी होने से इनकार नही किया जा सकता।
पवन/त्रिपाठी

From around the web

Trending Videos